India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

UP: इटावा में घर में घुसा रात को 9 फीट लम्बा मगरमच्छ, वन विभाग की टीम ने रेस्क्यू करके पानी में छोड़ा

जेतिया गांव स्थित किसान के घर में शनिवार रात मगरमच्छ घुस गया। 9 फुट लंबे मगरमच्छ को देख परिजन दहशत में आ गए। रविवार सुबह पहुंची वन विभाग की टीम ने मगरमच्छ को पकड़ लिया.

UP: इटावा में घर में घुसा रात को 9 फीट लम्बा मगरमच्छ, वन विभाग की टीम ने रेस्क्यू करके पानी में छोड़ा

IndiaNewsHindiBy : IndiaNewsHindi

  |  31 Oct 2022 5:35 AM GMT

इटावा में एक घर में घुसा 9 फुट लंबा मगरमच्छ। लेकिन ग्रामीणों ने पूरी रात दहशत में बिताई वन्यजीव, पुलिस और वन विभागों की संयुक्त टीम ने मगरमच्छ को बचाया। इसके बाद मगरमच्छ को उसकी नदी में छोड़ दिया गया।

बैदपुरा थाना अंतर्गत सेंट्रल जेल मोहोला के सामने स्थित गांव जैतिया में देर रात एक किसान के घर में एक खतरनाक मगरमच्छ घुस गया। जिसकी लंबाई करीब 9 फीट बताई जा रही है। वन विभाग और स्थानीय पुलिस ने जिला वन्यजीव विशेषज्ञ आशीष त्रिपाठी को सूचित किया कि मगरमच्छ रात करीब 11 बजे घर में घुसा था. फिर उसकी सलाह पर देर रात बचाव से बचते हुए उसने घर का दरवाजा बंद कर लिया और मगरमच्छ को घर में बंद कर दिया।

टीम सुबह जल्दी आ गई

डॉ. आशीष त्रिपाठी तड़के घटनास्थल पर पहुंचे और बचाव कार्य शुरू किया। एक घंटे की मशक्कत के बाद मगरमच्छ को सुरक्षित बाहर निकाला गया और वन विभाग की वन्यजीव टीम को सौंप दिया गया। तत्पश्चात संभागीय निदेशक सामाजिक वन अतुल कांत शुक्ला के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय चंबल शातिका का शुभारंभ किया गया।

भोजन की तलाश में गांव आया था

पर्यावरण और वन्यजीव संरक्षण के लिए काम करने वाली संस्था ओशन के महासचिव वन्यजीव विशेषज्ञ डॉ आशीष त्रिपाठी ने कहा कि मगरमच्छ को एक घंटे की सामान्य कोशिश के बाद पकड़ा गया। इसे मीठे पानी के मगरमच्छ या मार्श मगरमच्छ के रूप में भी जाना जाता है। वह बहुत गुस्से में था क्योंकि वह रेस्क्यू के दौरान भूखा था। वे भोजन की तलाश में भोगनीपुर नहर से भटक गए होंगे और गांव में प्रवेश कर गए होंगे।

गांव में लोगों की भीड़

मगरमच्छ को इटावा अनुमंडल वन अधिकारी संजय सिंह, लखना रेंज वन अधिकारी विवेकानंद दुबे, क्षेत्रीय वन अधिकारी वन्यजीव हरि किशोर शुक्ला, वन निरीक्षक सैफई श्री निवास पांडे, वन रक्षक सचिन कुमार यादव और बैदपुरा थाना प्रभारी अधिकारी राजीव यादव और उसके सभी सहयोगी दल मौजूद थे।

Next Story