India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

भारत सरकार ने अब इस प्लेटफॉर्म पर शुरू की डिजिटल स्ट्राइक, चुपचाप बैन

सर्वाधिक लोकप्रिय मीडिया प्लेयर सॉफ्टवेयर और स्ट्रीमिंग मीडिया सर्वर वीएलसी मीडिया प्लेयर अब भारत में काम नहीं कर रहा है।

भारत सरकार ने अब इस प्लेटफॉर्म पर शुरू की डिजिटल स्ट्राइक, चुपचाप बैन

Indianews@agencyBy : Indianews@agency

  |  2022-08-13T05:18:36+05:30

सर्वाधिक लोकप्रिय मीडिया प्लेयर सॉफ्टवेयर और स्ट्रीमिंग मीडिया सर्वर वीएलसी मीडिया प्लेयर अब भारत में काम नहीं कर रहा है। MediaNama की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में VLC Media Player को ब्लॉक कर दिया गया है, लेकिन ऐसा करीब 2 महीने पहले हुआ था। प्रतिबंध के बारे में न तो कंपनी ने और न ही भारत सरकार ने कोई जानकारी दी।

कुछ रिपोर्टों से पता चलता है कि वीएलसी मीडिया प्लेयर को देश में प्रतिबंधित कर दिया गया है क्योंकि प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल चीनी हैकिंग समूह सिकाडा द्वारा साइबर हमलों के लिए किया जा रहा था। कुछ महीने पहले, सुरक्षा विशेषज्ञों ने पाया कि सिकाडा एक लंबे समय से चल रहे साइबर हमले अभियान का हिस्सा था जो मैलवेयर लोडर के लिए वीएलसी मीडिया प्लेयर का उपयोग कर रहा था। आईटी अधिनियम, 2000 के तहत इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के आदेश के अनुसार वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया गया है।

एक ट्विटर यूजर गगनदीप सपरा ने वीएलसी वेबसाइट का स्क्रीनशॉट ट्वीट किया, जिससे पता चलता है कि आईटी एक्ट, 2000 के तहत इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के आदेश के अनुसार वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया गया है।

आपको बता दें कि 2020 में भारत सरकार ने सैकड़ों चीनी ऐप्स को ब्लॉक कर दिया था, जिनमें PUBG Mobile, Tiktok, Camscanner और भी बहुत कुछ शामिल हैं। अब सरकार ने भारत में PUBG Mobile के भारतीय वर्जन BGMI को भी ब्लॉक कर दिया है और इसे Google Play Store और Apple App Store से हटा दिया है। इन ऐप्स को ब्लॉक करने के पीछे की वजह यह है कि सरकार को डर था कि ये प्लेटफॉर्म यूजर्स का डेटा चीन भेज रहे हैं। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि वीएलसी मीडिया प्लेयर एक चीनी कंपनी द्वारा समर्थित नहीं है। इसे पेरिस स्थित फर्म वीडियोलैन द्वारा विकसित किया गया है।

Next Story