लॉन्च से पहले बैंक के आईपीओ को बड़ी राहत, बैन की मांग खारिज, 7 सितंबर तक सट्टा लगाने का मौका

तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक आईपीओ: तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) का शुभारंभ 5 सितंबर को होने वाला है। इससे पहले, कुछ निवेशकों ने आईपीओ पर रोक लगाने के लिए प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) का दरवाजा खटखटाया था। निवेशकों ने मांग की थी कि आईपीओ को होल्ड पर रखा जाए, लेकिन सैट ने याचिका खारिज कर दी है।

6 निवेशकों की याचिका: समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, छह विदेशी संस्थागत निवेशक शेयरधारकों ने याचिका दायर की थी। इन सभी सदस्यों की सामूहिक रूप से बैंक में 23.2 फीसदी हिस्सेदारी है। छह विदेशी निवेशकों में से रॉबर्ट एंड आर्डिस जेम्स कंपनी के पास 4.95 प्रतिशत, स्टारशिप इक्विटी होल्डिंग्स में 4.72 प्रतिशत, उपमहाद्वीप की इक्विटी में 4.64 प्रतिशत, ईस्ट रिवर होल्डिंग्स की 3.72 प्रतिशत, स्विस री इन्वेस्टर्स मॉरीशस की 1.90 प्रतिशत और एफआई इन्वेस्ट मॉरीशस की 1.48 प्रतिशत हिस्सेदारी है। शेयर करना।

इस बीच, निजी क्षेत्र के बैंक ने कहा कि उसने अपने आईपीओ से पहले एंकर निवेशकों से 363 करोड़ रुपये से अधिक की राशि जुटाई है। बीएसई की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, कंपनी ने एंकर निवेशकों को 510 रुपये की कीमत पर 71.28 लाख इक्विटी शेयर आवंटित करने का फैसला किया है, जो 363.53 करोड़ रुपये बनता है।

100 साल पुराने बैंक ने अपने 832 करोड़ रुपये के आईपीओ के लिए 500-525 रुपये प्रति शेयर की कीमत सीमा तय की है। आईपीओ 5 सितंबर को खुलेगा और 7 सितंबर को बंद होगा।