India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

Sula Vineyards IPO: सबसे ज्यादा शराब बनाती और बेचती है यह कंपनी, अब IPO लेकर आ रही है

जब तक 2022 जारी है, शेयर बाजार निवेशकों को कमाई के बेहतरीन मौके दे रहा है। पिछले नवंबर में कई कंपनियों ने एक के बाद एक अपने आईपीओ पेश किए। अगर आप इनमें पैसा लगाने से चूक जाते हैं तो वाइन बनाने वाली कंपनी Sula Vineyards IPO में निवेश कर सकते हैं।

Sula Vineyards IPO: सबसे ज्यादा शराब बनाती और बेचती है यह कंपनी, अब IPO लेकर आ रही है

IndiaNewsHindiBy : IndiaNewsHindi

  |  9 Dec 2022 6:48 AM GMT

शराब कंपनी अब निवेशकों को शेयर बाजार में कमाई का मौका दे रही है। वाइनमेकर चुला वाइनयार्ड्स अगले हफ्ते आईपीओ लॉन्च करने के लिए तैयार है। इस आंकड़े का आकार 960.35 करोड़ रुपए होगा। अगले सप्ताह खुलने वाला आईपीओ पूरी तरह से बिक्री के लिए पेश किया जाएगा।

शुरू करने से पहले समस्या का आकार घटाया गया

वाइनमेकर कंपनी चुला वाइनयार्ड्स का आईपीओ (IPO) 12 दिसंबर को उपभोक्ताओं के लिए खुल सकता है। जुलाई 2022 में, कंपनी ने बाजार नियामक SEBI (SEBI) को एक मसौदा रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) प्रस्तुत किया। लॉन्च से पहले कंपनी ने इश्यू साइज को 1,200-1,400 करोड़ रुपये से घटा दिया है। इश्यू का आकार अब 960.35 करोड़ रुपये होगा।

कंपनी ने आईपीओ के लिए शेयरों का प्राइस बैंड तय किया है। यह प्रति शेयर 340-357 रुपये आंकी गई है। आंकड़ों के मुताबिक लॉट साइज 42 शेयरों का होगा।

इश्यू को पूरी तरह बिक्री के लिए पेश किया गया है

पूरी तरह से बिक्री के लिए पेशकश (ओएफएस), इस मुद्दे में कंपनी के प्रमोटर और मौजूदा शेयरधारक बिक्री की पेशकश करेंगे। सीधे शब्दों में कहें तो OFS कंपनी के शेयरों को बेचने का एक तरीका है, जहां सूचीबद्ध कंपनी के प्रमोटरों के पास पारदर्शी तरीके से अपनी मौजूदा शेयरधारिता को कम करने का अवसर होता है। बता दें कि स्टॉक मार्केट लिस्टिंग के बाद चुला वाइनयार्ड्स शेयर बाजार में डेब्यू करने वाली देश की पहली प्योर-प्ले वाइनमेकर होगी।

आप 14 दिसंबर तक पैसा निवेश कर सकते हैं!

हालांकि, आईपीओ के तहत बेचे जाने वाले शेयरों के प्राइस बैंड का खुलासा चुला वाइनयार्ड ने नहीं किया है, लेकिन इश्यू लॉन्च की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं और प्राइस बैंड का अनावरण कभी भी किया जा सकता है। चुला वाइनयार्ड्स का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए 12 दिसंबर को खुलेगा और निवेशक इसमें 14 दिसंबर तक निवेश कर सकते हैं। इश्यू एंकर निवेशकों के लिए 9 दिसंबर को खुलेगा।

वाइन सेलर और उत्पादन में अग्रणी

शराब उत्पादक चुला वाइनयार्ड्स की स्थापना 1996 में हुई थी। कंपनी शराब उत्पादन और बिक्री में अग्रणी थी वित्त वर्ष 2021-22 के लिए इसका राजस्व 453.92 करोड़ रुपये और शुद्ध लाभ 52.14 करोड़ रुपये है। नासिक स्थित कंपनी रासा, डिंडोरी, द सोर्स, सटोरी, मदेरा और दीया सहित 13 ब्रांड नामों के तहत वाइन के 56 लेबल बनाती है।

Next Story