India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

RBI द्वारा रेपो रेट बढ़ाने के बाद इन तीन बैंकों ने कर्ज महंगा कर ग्राहकों को झटका दिया

आरबीआई ने बुधवार को रेपो रेट में 0.35 फीसदी की बढ़ोतरी की। रेपो रेट बढ़कर 6.25 फीसदी हो गया। कयास लगाए जा रहे हैं कि इसकी वजह से अन्य बैंक भी आने वाले दिनों में ब्याज दरें बढ़ा सकते हैं, जिससे आम जनता पर ईएमआई का बोझ बढ़ सकता है।

RBI द्वारा रेपो रेट बढ़ाने के बाद इन तीन बैंकों ने कर्ज महंगा कर ग्राहकों को झटका दिया

IndiaNewsHindiBy : IndiaNewsHindi

  |  9 Dec 2022 6:25 AM GMT

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को रेपो रेट में बढ़ोतरी का असर आम जनता पर दिखना शुरू हो गया है। रेपो रेट बढ़ाने के बाद तीन बैंकों ने कर्ज भी महंगा कर दिया है। इनमें एचडीएफसी बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और इंडियन ओवरसीज बैंक शामिल हैं। इसका बोझ बैंक ग्राहकों की जेब पर पड़ेगा और उनकी ईएमआई बढ़ सकती है।

बता दें कि आरबीआई ने बुधवार को रेपो रेट में 0.35 फीसदी की बढ़ोतरी की है। रेपो रेट बढ़कर 6.25 फीसदी हो गया। कयास लगाए जा रहे हैं कि इसकी वजह से अन्य बैंक भी आने वाले दिनों में ब्याज दरें बढ़ा सकते हैं, जिससे आम जनता पर ईएमआई का बोझ बढ़ सकता है।

एचडीएफसी बैंक ने अपना एमसीएलआर बढ़ाया

एचडीएफसी बैंक ने अपनी एक साल की मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट्स (MCLR) में 50 बेसिस प्वाइंट तक की बढ़ोतरी की है। एक साल के लिए रेट 8.10% से बढ़ाकर 8.60% कर दिया गया है। एचडीएफसी बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, ओवरनाइट और एक महीने की ब्याज दर अब 8.30 फीसदी है। एमसीएलआर को क्रमशः तीन और छह महीने के ऋण के लिए बढ़ाकर 8.35% और 8.45% कर दिया गया है। दो साल के लिए ब्याज दर घटाकर 8.70 फीसदी और तीन साल के लिए 8.80 फीसदी कर दी गई है।

बीओआई और आईओबी ने भी ब्याज दरों में बदलाव किया

एचडीएफसी के अलावा बैंक ऑफ इंडिया और इंडियन ओवरसीज बैंक ने भी दरों में बदलाव किया है। बैंक ऑफ इंडिया ने रेपो आधारित उधार दरों (RBLR) में 35 आधार अंकों की बढ़ोतरी की। बैंक का आरबीएलआर बढ़कर 9.10 फीसदी हो गया। संशोधित दर सभी टर्म लोन के लिए है, जो 7 दिसंबर से लागू है।

इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) ने एमसीएलआर पर ब्याज दर 15 आधार अंक से बढ़ाकर 35 आधार अंक कर दी है। नई दरें 10 दिसंबर से लागू होंगी। अलग-अलग अवधि के कर्ज के लिए ब्याज दरों में बढ़ोतरी की गई है. आईओबी से अब एक रात के लिए 7.65%, एक महीने के लिए 7.70%, तीन महीने के लिए 8.00%, छह महीने के लिए 8.15% और एक साल के लिए 8.25% कर दिया गया है। वहीं दो साल के लिए ब्याज दर 8.35 फीसदी और तीन साल के लिए 8.40 फीसदी होगी।

रेपो रेट क्या है

रेपो रेट वह ब्याज दर है जो आरबीआई बैंकों को उधार देता है। ऐसे में जब रेपो रेट कम होता है तो आपको बैंकों से सस्ता कर्ज भी मिलता है और ईएमआई कम होती है। हालांकि रेपो रेट बढ़ने पर दूसरे बैंक भी लोन पर ब्याज दरें बढ़ा देते हैं। ऐसे में आपके लिए लोन महंगा हो जाता है और आपकी ईएमआई का बोझ बढ़ जाता है।

Next Story