India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

मेनोपॉज को मैनेज करने के टिप्स: आयुर्वेद ने मेनोपॉज के लक्षणों को मैनेज करने के ये आसान तरीके बताए हैं

मेनोपॉज के लिए सरल आयुर्वेदिक टिप्स: मेनोपॉज वह समय होता है जब महिलाओं के लिए अपना पीरियड साइकल खत्म करने

मेनोपॉज को मैनेज करने के टिप्स: आयुर्वेद ने मेनोपॉज के लक्षणों को मैनेज करने के ये आसान तरीके बताए हैं

Indianews@agencyBy : Indianews@agency

  |  2022-08-27T04:05:45+05:30

मेनोपॉज के लिए सरल आयुर्वेदिक टिप्स: मेनोपॉज वह समय होता है जब महिलाओं के लिए अपना पीरियड साइकल खत्म करने का समय होता है और साथ ही यह उन महिलाओं के लिए संक्रमण का समय होता है जो हार्मोनल बदलाव के कारण कई शारीरिक और मानसिक लक्षणों का अनुभव करती हैं। रजोनिवृत्ति के दौरान लक्षणों से निपटने के लिए पूरक आहार का उपयोग किया जाता है। हालांकि, आप आयुर्वेदिक तरीकों को अपनाकर इन लक्षणों को नियंत्रित कर सकते हैं। आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ नितिका कोहली ने अपने हालिया इंस्टाग्राम पोस्ट में रजोनिवृत्ति के लक्षणों को प्रबंधित करने के आयुर्वेदिक तरीकों के बारे में बात की है।

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को प्रबंधित करने के सरल तरीके

1) ताजा और गर्म खाना खाएं

वात-पित्त को शांत करने वाले भोजन से शुरुआत करें जो गर्म, हल्का, पका हुआ और ताजा हो। आयुर्वेद का मानना ​​है कि ताजा और गर्म भोजन पाचन प्रक्रिया में मदद करता है और पोषक तत्वों के बेहतर अवशोषण में मदद करता है।

2) रेड मीट और बासी खाने से बचें

मेनोपॉज से पहले आपको अपने स्वास्थ्य पर पूरा ध्यान देना चाहिए। ऐसे में सूखा, ठंडा, किण्वित, बचा हुआ खाना, रिफाइंड चीनी और रेड मीट से परहेज करें क्योंकि ऐसा खाना खाने से पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

3) चाय-कॉफी और शराब से रखें दूरी

शराब और कैफीन आपकी सेहत के लिए बहुत हानिकारक होते हैं। खासकर मेनोपॉज के दौरान आपको इन सभी चीजों को अलविदा कह देना चाहिए। क्योंकि वे गर्म चमक और रजोनिवृत्ति के अन्य लक्षणों को बढ़ा सकते हैं।

4) व्यायाम जरूरी है

व्यायाम को अपनी दैनिक जीवन शैली में शामिल करें। यह आपके हार्मोन को बेहतर तरीके से काम करने में मदद कर सकता है और आपको मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रख सकता है।

5) गर्म तेल से मालिश करें

शरीर और दिमाग को शांत करने के लिए तेल मालिश एक बेहतरीन तरीका है। रोजाना गर्म तेल से अपनी खुद की मालिश और नाक की दवा का उपयोग करने की सलाह दी जाती है।

Next Story