India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

बाहरी अंतरिक्ष से एलियंस को लेकर पेंटागन का सबसे बड़ा खुलासा, कहा कुछ ऐसा- हैरान रह गई दुनिया

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने एलियंस और उनके वाहनों के बारे में कुछ ऐसा कहा है जिसने दुनिया भर के वैज्ञानिकों और लोगों को हैरान कर दिया है। लोगों का मानना ​​है कि अमेरिका एलियन व्हीकल्स के बारे में कुछ बड़ी बातें छुपा रहा है। पेंटागन विदेशी घटनाओं की जांच कर रहा है। आइए जानते हैं क्या है उनकी जांच रिपोर्ट में...

बाहरी अंतरिक्ष से एलियंस को लेकर पेंटागन का सबसे बड़ा खुलासा, कहा कुछ ऐसा- हैरान रह गई दुनिया

IndiaNewsHindiBy : IndiaNewsHindi

  |  19 Dec 2022 11:08 AM GMT

पेंटागन ने एक बार फिर अपने खुलासों से दुनिया को चौंका दिया है। वह कुछ ऐसा कह रहे हैं जिसे वैज्ञानिक और दुनिया भर के लोग मानने को तैयार नहीं हैं। लोगों का मानना ​​है कि अमेरिका एलियंस और उनके एलियनशिप यानी यूएफओ के बारे में कुछ छिपा रहा है।

पेंटागन ने एक लंबी जांच के बाद कहा कि आज तक बाहरी अंतरिक्ष से एलियंस और यूएफओ का कोई सबूत नहीं मिला है। इससे पता चलता है कि एलियंस कभी पृथ्वी पर नहीं आए। न ही उनके वाहनों ने दुनिया में कहीं भी क्रैश लैंडिंग की है। यह पेंटागन के एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी के अनुसार है।

पेंटागन लगातार उन घटनाओं की जांच कर रहा है जिनमें विदेशी वाहनों के दिखाई देने की सूचना मिली है। चाहे आप उन्हें अंतरिक्ष में देखें, आकाश में या जब आप समुद्र छोड़ दें या छोड़ दें। ऐसी सैकड़ों रिपोर्ट्स की अभी भी जांच चल रही है। लेकिन अब तक पेंटागन को एलियंस और उनके अंतरिक्ष यान यानी यूएफओ के पृथ्वी पर उतरने या उड़ने का कोई सबूत नहीं मिला है।

पेंटागन को एलियंस या यूएफओ के सबूत नहीं मिले

पेंटागन का कहना है कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि पृथ्वी को पता होना चाहिए कि बुद्धिमान विदेशी जीवन आता है और चला जाता है। या यहीं रहता है? पेंटागन के खुफिया और सुरक्षा प्रभाग के रक्षा सचिव रोनाल्ड मोल्ट्री ने कहा, "मैंने अभी तक ऐसा कुछ नहीं देखा है।" कहीं कोई विदेशी अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त नहीं हुआ है, ऐसी कोई घटना दुनिया में कहीं नहीं हुई है।

पेंटागन का कहना है- हम कैसे मान लें कि एलियंस आए थे

पेंटागन के नए ऑल डोमेन एनोमली रेजोल्यूशन ऑफिस (AARO) के निदेशक सोन किर्कपैट्रिक अन्यथा कहते हैं। उनका मानना ​​है कि शायद एलियंस धरती पर आए थे। लेकिन हमें इसकी वैज्ञानिक जांच करनी होगी। अलौकिक जीवन मौजूद हो सकता है, लेकिन हम इस तथ्य को बिना प्रमाण के स्वीकार नहीं कर सकते। हम लगातार ऐसी चीजों की जांच कर रहे हैं। जब तक हम निश्चित नहीं होंगे, हम कैसे मान सकते हैं कि एलियंस आ चुके हैं।

वैज्ञानिक शोध के बाद ही इसे प्रकाशित किया जाएगा

बेटे किर्कपैट्रिक ने कहा, "एक भौतिक विज्ञानी के रूप में, मुझे वैज्ञानिक रूप से हर चीज की जांच करनी है।" इसी तरह यह विदेशी मामलों की जांच करेगी। तथ्यों और वैज्ञानिक विधियों के अनुसार सही निर्णय लिया जाएगा। AARO का गठन अमेरिकी सैन्य शिविरों, प्रतिबंधित हवाई अड्डों और जहां आवश्यक हो वहां विदेशियों या समान वस्तुओं के आगमन की जांच के लिए किया गया था। ताकि अमेरिकी सैन्य अभियानों और राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा न हो।

इससे पहले, संयुक्त राज्य अमेरिका ने कहा कि एक यूएफओ देखा गया था

पिछले साल, अमेरिकी सरकार की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि 2004 तक, 140 मामले प्रकाश में आए थे, जिनमें विदेशी अंतरिक्ष यान देखे गए थे। घटना की सूचना अमेरिकी सेना ने दी थी। संयुक्त राज्य अमेरिका इस प्रक्रिया को एक अज्ञात हवाई घटना (यूएपी) कहता है। इनके अलावा विभिन्न स्थानों से ऐसी 143 घटनाओं की सूचना मिली। इससे पहले 1969 में भी इसी तरह की जांच शुरू की गई थी। जिसे प्रोजेक्ट ब्लू बुक कहा गया। इसने 12,618 यूएफओ देखे। इनमें से 701 घटनाओं की रिपोर्ट नहीं हो सकी।

Next Story