पीएम किसान की किस्त पाने वाले लाभार्थियों की संख्या घटी, चेक करें इस बार लिस्ट से आपका नाम तो नहीं हटाया गया

PM किसान 12वीं किस्त नवीनतम अपडेट: पीएम किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों को 12वीं किस्त का बेसब्री से इंतजार है। योजना में अनियमितताओं को रोकने के लिए सरकार ने ई-केवाईसी की तारीख 31 अगस्त तक बढ़ा दी है. मोदी सरकार की सख्ती के चलते पिछली दो किस्तें पाने वाले किसानों की संख्या में कमी आई है. कुल 11 करोड़ 19 लाख 25 हजार 347 किसानों के खातों में अगस्त-नवंबर 2021-22 की 2000-2000 रुपये की किस्त पहुंच गई है. तब से इसमें लगातार गिरावट आ रही है। 12वीं किस्त आने की बात यह है कि 15 सितंबर से पहले किसानों के खातों में इसके आने की पूरी संभावना हैI

ग्राम-ग्राम लाभार्थी सत्यापन एवं ई-केवाईसी से दिसम्बर-मार्च 2021-22 में किश्त प्राप्त करने वाले किसानों की संख्या घटकर 11 करोड़ 14 लाख 92 हजार 273 रह गई है। वहीं, 11वीं किश्त यानी अप्रैल- जुलाई 2022-23 में यह घटकर 10 करोड़ 92 लाख 23 हजार 183 हो गया। जबकि पीएम किसान योजना में पंजीकृत किसानों की संख्या 12 करोड़ से अधिक है।

क्या है पीएम किसान सम्मान निधि योजना

पीएम किसान सम्मान निधि योजना किसान परिवारों के लिए है। परिवार का अर्थ है पति-पत्नी और दो नाबालिग बच्चे। योजना के नियमों के अनुसार पीएम किसान का पैसा किसान परिवार को मिलता है यानी परिवार के किसी एक सदस्य के खाते में 6000 रुपये सालाना 2000-2000 की तीन किस्तों में सीधे बैंक खाते में आते हैं.

अब तक इतने किसानों को मिला लाभ

किस्त: जिन किसानों को पैसा मिला है, उनकी संख्या

अप्रैल-जुलाई 2022-23: 10,92,23,183
दिसंबर-मार्च 2021-22: 11,14,92,273
अगस्त-नवंबर 2021-22: 11,19,25,347
अप्रैल-जुलाई 2021-22: 11,16,34,143
दिसंबर-मार्च 2020-21 : 10,23,52,565
अगस्त-नवंबर 2020-21: 10,23,45,734
अप्रैल-जुलाई 2020-21: 10,49,33,403
दिसंबर-मार्च 2019-20: 8,96,27,174
अगस्त-नवंबर 2019-20: 8,76,29,582
अप्रैल-जुलाई 2019-20: 6,63,57,773
अप्रैल-जुलाई 2018-19 : 3,16,13,733
क्या पति-पत्नी दोनों ले सकते हैं योजना का लाभ

अक्सर यह सवाल उठता है कि क्या पति-पत्नी दोनों पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठा सकते हैं? तो उत्तर नहीं है। अगर कोई ऐसा करता है तो सरकार उससे उबरेगी।

करदाता भी नहीं ले सकते लाभ

इसके अलावा अगर किसान परिवार में कोई टैक्स देता है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। यानी अगर पति-पत्नी में से किसी ने पिछले साल इनकम टैक्स का भुगतान किया है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

यहां तक ​​कि उन्हें पीएम किसान का पैसा भी नहीं मिलेगा

अगर कोई कृषि भूमि का मालिक है, लेकिन वह सरकारी कर्मचारी है या सेवानिवृत्त हो चुका है, मौजूदा या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री को पीएम किसान योजना का लाभ नहीं मिल सकता है।
पेशेवर पंजीकृत डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट या उनके परिवार के सदस्य भी अपात्र की सूची में आते हैं।
किसान होने के बावजूद अगर आपको एक महीने में 10000 रुपये से ज्यादा की पेंशन मिलती है तो आप इस योजना के लाभार्थी नहीं हो सकते। आयकर भुगतान करने वाले परिवारों को भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
जो लोग कृषि कार्य के स्थान पर कृषि भूमि का उपयोग अन्य कार्यों के लिए कर रहे हैं या दूसरों के खेतों पर कृषि कार्य करते हैं, लेकिन खेत के मालिक नहीं हैं। ऐसे किसान भी इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।
यदि कोई किसान खेती कर रहा है, लेकिन खेत उसके नाम पर नहीं है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। यदि खेत उनके पिता या दादा के नाम पर है तो भी वह इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।

ऐसे देखें अपने गांव की नई लिस्ट

सबसे पहले पीएम किसान पोर्टल https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं। होम पेज पर मेन्यू बार में जाएं और ‘किसान कॉर्नर’ पर जाएं। यहां लाभार्थी सूची पर क्लिक/टैप करें।
यहां आप राज्य में ड्रॉप-डाउन मेनू से अपने राज्य का चयन करें। इसके बाद दूसरे टैब में जिला, तीसरे में तहसील या उप जिला, चौथे में प्रखंड और पांचवें में अपने गांव का नाम चुनें. इसके बाद Get Report पर क्लिक करते ही आपके सामने पूरे गांव की लिस्ट आ जाएगी।