India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

पालतू जानवरों की देखभाल: इन विशेषज्ञ युक्तियों से अपने कुत्ते को त्वचा के संक्रमण से बचाएंI

बरसात के मौसम में कुत्तों में त्वचा का संक्रमण काफी आम है। यहाँ एक पशु चिकित्सक द्वारा स्वच्छता और संवारने

Pet -care- Prevent- your- dog -from -skin -infections- with -these -expert- tips

Indianews@agencyBy : Indianews@agency

  |  2022-07-19T09:36:11+05:30

बरसात के मौसम में कुत्तों में त्वचा का संक्रमण काफी आम है। यहाँ एक पशु चिकित्सक द्वारा स्वच्छता और संवारने के सुझाव दिए गए हैं।

आपका कुत्ता मानसून के सुखद मौसम और असहनीय गर्मी से राहत से प्यार कर रहा होगा जो लंबी सैर को फिर से संभव बनाता है। जहां बारिश बहुत सुखद होती है, वहीं मानसून की बीमारियों का खतरा सारा मजा खराब कर सकता है। कुत्तों के लिए, इस मौसम में स्वच्छता और सौंदर्य बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है, क्योंकि बरसात के मौसम में त्वचा संक्रमण काफी आम है। पालतू माता-पिता को अपने पालतू साथियों को बैक्टीरिया और फंगल संक्रमण से बचाने के लिए हर कदम उठाना चाहिए। यदि आपके कुत्ते की त्वचा लाल, खुजलीदार और परतदार हो गई है या त्वचा पर मवाद से भरे घाव हैं, तो आपको तुरंत एक पशु चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

DCC पशु अस्पताल में पशु चिकित्सा सेवा के प्रमुख डॉ विनोद शर्मा कहते हैं, "पालतू जानवरों के माता-पिता को अतिरिक्त सावधानी बरतने की ज़रूरत है क्योंकि उनके पालतू बच्चों को मानसून में त्वचा संक्रमण या पानी से होने वाली बीमारियों का खतरा अधिक होता है।"

अपने पालतू बच्चे के पंजों को सूखा रखने से लेकर पूरी तरह से संवारने तक, यहां उन चीजों की एक सूची दी गई है, जिनके बारे में आपको सावधान रहना चाहिए यदि आपके पास कुत्ता है।

1.अच्छा पोषण: पौष्टिक भोजन सीधे पालतू जानवर के फर को प्रभावित करता है। यह वास्तव में महत्वपूर्ण है, विशेष रूप से मानसून में, पालतू कुत्ते को संतुलित भोजन दिया जाता है जिसमें जिंक, ओमेगा 3 और 6 होता है।

2.उचित संवारना: एक अच्छी तरह से तैयार किया गया कुत्ता एक स्वस्थ कुत्ता होता है। कुत्ते की ग्रूमिंग सिर्फ इसलिए नहीं है कि वह साफ-सुथरा दिखे, बल्कि यह भी है कि टिक, पिस्सू और संक्रमण दूर रहें। मानसून के मौसम के दौरान, आपके कुत्तों के लिए समय-समय पर संवारना आवश्यक है। बारिश में सब कुछ गीला हो जाता है, और इस तरह संक्रमण होने की संभावना बहुत अधिक होती है। कृपया सुनिश्चित करें कि कुत्ते के लिए उचित स्वच्छता बनाए रखी गई है। कान की सफाई, गुदा ग्रंथि की सफाई और समग्र रूप से साफ त्वचा बनाए रखना बहुत महत्वपूर्ण है। इस मौसम में कीड़ों को पकड़ने की अधिक संभावना होती है, इसलिए अतिरिक्त देखभाल की आवश्यकता होती है।

3.फर को सूखा रखें: बरसात के मौसम में त्वचा संबंधी समस्याएं अधिक आम होती हैं। कृपया सुनिश्चित करें कि आप स्नान के बाद या बारिश में भीगने पर अपने पालतू जानवर के फर को ठीक से सुखा लें। नम फर फंगल या जीवाणु संक्रमण के लिए एक आमंत्रित बिस्तर है और इसे सूखा और साफ रखना अनिवार्य है। स्वच्छता बनाए रखने के लिए आप एंटी-फंगल पाउडर का उपयोग कर सकते हैं।

4.पंजे बार-बार पोंछें: आपके पालतू जानवर के पंजे जमीन पर कई वायरस और बैक्टीरिया के संपर्क में आते हैं। खासकर जब आप बारिश के बाद टहलने के लिए बाहर जाते हैं, तो सड़कें कीचड़ भरी और गंदी होती हैं और इसका मतलब है कि अधिक बैक्टीरिया। आपको अपने कुत्ते के पंजे को जितना हो सके सूखा और साफ रखना चाहिए। पंजे साफ करने के लिए आप गर्म पानी और मुलायम तौलिये का इस्तेमाल कर सकते हैं। नाखूनों को ट्रिम करवाते रहें और जरूरत पड़ने पर आप कुछ पालतू जूते भी खरीद सकते हैं।

5.डीवर्मिंग: मानसून के मौसम में आपके कुत्ते को कृमि संबंधी बीमारियों की चपेट में आने की संभावना बहुत अधिक होती है। अपने पशु चिकित्सक से परामर्श करें और सुनिश्चित करें कि आपके पालतू जानवर को सही कृमिनाशक गोलियां और टीके मिल रहे हैं।

6.सैर करते समय अतिरिक्त सावधानी बरतें: चलना सभी कुत्तों के लिए जरूरी है। सभी कुत्तों को शारीरिक गतिविधि और ताजी हवा की आवश्यकता होती है, लेकिन, मानसून में, सड़कें जलभराव और गंदी हो जाती हैं। कीचड़ भरी सड़कों पर चलना पालतू जानवरों के लिए जहरीला हो सकता है। जैसा कि कुत्ते अक्सर अपने पंजे या त्वचा को चाटते हैं, विषाक्त पदार्थों को निगला जा सकता है और इससे गैस्ट्रिक या अन्य समस्याएं हो सकती हैं। अंत में, त्वचा संक्रमित हो सकती है। इसलिए, टहलने जाएं लेकिन उन रास्तों से भी बचें जो वास्तव में कीचड़ भरे या जलमग्न हैं। टहलने के बाद त्वचा को साफ और सुखाने के लिए अतिरिक्त देखभाल करें। यदि आप किसी भी सामान्य खुजली या काटने को देखते हैं, तो तुरंत पशु चिकित्सक की राय लें।

हिन्दी में देश दुनिया भर कि ताजा खबरों के लिए लिंक पर क्लिक करें india News.Agency

Next Story