India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

Hero Motocorp Launch E-Scooter: Vida 1.45 लाख रुपये से शुरू और एक बार चार्ज करने पर 165 किमी चलता है

Hero MotoCorp ने EV ब्रांड Vida के तहत अपना पहला इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च किया। इसे दो वेरिएंट Vida V1 Pro और V1 Plus में लॉन्च किया गया है।

Hero Motocorp Launch E-Scooter: Vida 1.45 लाख रुपये से शुरू और एक बार चार्ज करने पर 165 किमी चलता है

IndiaNewsHindiBy : IndiaNewsHindi

  |  7 Oct 2022 9:52 AM GMT

हीरो मोटोकॉर्प ने आज EV ब्रांड Vida के तहत अपना पहला इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च किया। इसे दो वेरिएंट Vida V1 Pro और V1 Plus में लॉन्च किया गया है। वी1 प्लस की कीमत 1.45 लाख रुपये एक्स-शोरूम और प्रो की 1.59 लाख रुपये है। अक्टूबर से की जा सकती है बुकिंग स्कूटर के साथ Vida प्लेटफॉर्म और Vida सर्विस है।

यह एक बार चार्ज करने पर 165 किमी चलेगी

V1 Pro और V1 Plus दोनों की टॉप स्पीड 80 Kmph होगी। फास्ट चार्जिंग 1.2 किमी/मिनट होगी। वी1 प्रो 0-40 किमी/घंटा की रफ्तार 3.2 सेकेंड में और प्लस 3.4 सेकेंड में पहुंच जाएगी। एक बार चार्ज करने पर V1 Pro की रेंज 165 किमी और प्लस 143 किमी होगी।

दोनों में 7 इंच की टच स्क्रीन है

इसमें मल्टीपल राइडिंग मोड्स भी मिलेंगे। इको, राइड और स्पोर्ट। दोनों में 7 इंच की टच स्क्रीन है। यह बिना चाबी के नियंत्रण और एसओएस अलर्ट जैसी सुविधाओं के साथ भी आता है। वीडा हीरो मोटोकॉर्प के तहत एक नया लोगो और पहचान के साथ एक नया ऑल-इलेक्ट्रिक ब्रांड है।

वीडा का मतलब लाइफ

लॉन्च के वक्त कंपनी के सीईओ पवन मुंजाल ने बीड़ा के नामकरण की कहानी बताई। "जब इसे बनाया गया था, तो यह सोचा गया था कि यह सिर्फ एक नया उत्पाद नहीं था," उन्होंने कहा। मुझे उत्पाद से परे सोचना था, मुझे ग्रह के बारे में सोचना था। एक सुबह वह सैकड़ों नाम सोचकर अपने एक दोस्त से बात कर रहा था। इस समय के दौरान बिदा नाम का सुझाव दिया गया था। विदाई का अर्थ है जीवन।

एथर एनर्जी के साथ साझेदारी

चार्जिंग नेटवर्क और उपकरण की पेशकश करने के लिए हीरो मोटोकॉर्प ने ईथर एनर्जी के साथ भी साझेदारी की है। हीरो ने हाल ही में एक ट्वीट में कहा, "अब आप अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर को घर पर, पार्किंग में और हमारे सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों पर चार्ज कर सकते हैं।" पहले चरण में बेंगलुरु, दिल्ली और देश के सात अन्य शहरों में चार्जिंग स्टेशन उपलब्ध होंगे। इन चार्जिंग स्टेशनों पर डीसी और एसी दोनों चार्जिंग विकल्प उपलब्ध होंगे।

वीडा स्कूटर्स को भी मिलेगी सब्सिडी

Vida V1 Pro और Plus स्कूटरों को सरकार की FAME-II सब्सिडी भी मिलेगी। इस योजना के तहत ग्राहकों को इलेक्ट्रिक वाहन खरीदते समय बड़ी छूट दी जाती है। हीरो मोटोकॉर्प ने स्कूटर के लॉन्च को दो बार टाला है, अब इसे त्योहारी सीजन के दौरान लॉन्च किया जा रहा है।

स्कूटर को बनने में 25,000 घंटे लगे

Vida को जयपुर में कंपनी के R&D सेंटर में डिजाइन और विकसित किया गया था। हीरो ने इस इलेक्ट्रिक स्कूटर को बनाने में 25,000 घंटे का समय लिया है। ई-स्कूटर ओला एस1, टीवीएस आईक्यूब, अतहर 450एक्स, हीरो इलेक्ट्रिक फोटॉन और बजाज सेतक जैसे ई-स्कूटर के लिए एक बड़ी चुनौती पेश करेगा।

2025 तक ई-टू-व्हीलर का बाजार 50 लाख तक पहुंच जाएगा

मैकिन्से के अनुसार, भारतीय ई-दोपहिया बाजार 2025 तक 45-5 करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद है, जो कुल बाजार का 25% -30% और 2030 तक 9 मिलियन का प्रतिनिधित्व करता है। पिछले कुछ महीनों में दोपहिया वाहनों की बिक्री में जबरदस्त उछाल आया है। टीवीएस, एम्पीयर इलेक्ट्रिक, ईथर एनर्जी, हीरो इलेक्ट्रिक जैसी कंपनियों ने हाल ही में 1,000 करोड़ रुपये, 700 करोड़ रुपये, 636 करोड़ रुपये और 700 करोड़ रुपये के निवेश की योजना बनाई है। इस मौके का फायदा उठाने के लिए इस क्षेत्र में कई स्टार्टअप सामने आए हैं।

बिक्री 25,000 से बढ़कर 143,000 हुई

पिछले 5 साल में ई-टू व्हीलर की बिक्री 25000 यूनिट से बढ़कर 143000 यूनिट हो गई है। इस साल यह आंकड़ा आसानी से 200,000 यूनिट को पार कर जाएगा। हीरो इलेक्ट्रिक का दावा है कि वह हर महीने करीब 4,500 यूनिट्स बेच रही है।

ऑटो दिग्गज इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर स्पेस में निवेश करते हैं

हीरो मोटोकॉर्प और बजाज ऑटो जैसे दिग्गज भी इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर स्पेस में निवेश कर रहे हैं। कैब सेवा प्रदाता ओला ने पिछले साल तमिलनाडु में अपनी पहली मेगा इलेक्ट्रिक स्कूटर फैक्ट्री स्थापित करने के लिए 2,400 करोड़ रुपये का निवेश किया था। ओला का दावा है कि वह अपने कारखाने में प्रति वर्ष 10 मिलियन वाहनों की क्षमता बनाएगी। ओला फिलहाल बाजार में S1 और S1 Pro के नाम से दो स्कूटर बेचती है।

इलेक्ट्रिक वाहनों से जुड़ी तीन प्रमुख आशंकाएं हैं

इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर भारतीय उपभोक्ताओं में तीन प्रमुख आशंकाएं हैं। पहला यह है कि वे बहुत महंगे हैं। दूसरी बात यह है कि उनके विकल्प बहुत सीमित हैं। हालांकि अब बाजार में बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स लॉन्च हो गए हैं। ग्राहकों की तीसरी चिंता संबंधित बुनियादी ढांचे की कमी है। इसका मतलब है कि भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए चार्जिंग की सुविधा अभी भी बहुत कम है। मौजूदा समय में ज्यादातर लोग अपने स्कूटर को घर पर ही चार्ज करते हैं।

हीरो मोटोकॉर्प के ई-स्कूटर से कैसे बदलेगा बाजार?

हीरो मोटोकॉर्प टू-व्हीलर सेगमेंट में एक जाना-पहचाना नाम है। जिस तरह से मारुति कार पर हावी है, हीरो मोटोकॉर्प कुछ हद तक दोपहिया वाहनों में समान है। 1985 में हीरो ने अपनी पहली मोटरसाइकिल सीडी 100 जारी की। इसे जापानी कंपनी होंडा के साथ ज्वाइंट वेंचर में लॉन्च किया गया था। सीडी 100 और अन्य मॉडलों की सफलता ने हीरो को 2001 में दुनिया की सबसे बड़ी मोटरसाइकिल और स्कूटर निर्माता बनाने में मदद की।

बाद में हीरो और होंडा दोनों अलग हो गए। इसके बावजूद, भारतीय दोपहिया बाजार में हीरो की अभी भी 37% (यूनिट वार) की कमांडिंग हिस्सेदारी है, जो होंडा से काफी आगे है। होंडा के पास बाजार का 25% हिस्सा है। अब बाजार बदल गया है और बाजार का फोकस इलेक्ट्रिक वाहनों पर बढ़ रहा है। हीरो मोटोकॉर्प से पहले दर्जनों कंपनियों ने दोपहिया बाजार में इसे कड़ी टक्कर देते हुए अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को बाजार में उतारा है।

हालांकि, हीरो के पास लगातार नए मॉडल पेश करने का इतिहास भी है। चुनौती पर टिप्पणी करते हुए, कंपनी के अध्यक्ष और सीईओ पवन मुंजाल ने कहा, "मुझे विश्वास है कि हीरो मोटोकॉर्प न केवल फर्क कर सकता है बल्कि उभरते ईवी बाजार पर भी हावी हो सकता है। हमारे पास क्षमता है, हमारे पास ऊर्जा है, हमारे पास ईवी लीडर बनने के लिए वित्तीय ताकत है। ईवी बाजार में दर्जनों कंपनियां हो सकती हैं, लेकिन फिर भी लोग उन्हें अपनाने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं हैं।

हीरो मोटोकॉर्प के ई-स्कूटर के आने से लोगों का विश्वास बढ़ेगा और ज्यादा लोग इसे अपनाने के लिए तैयार होंगे। हीरो मोटोकॉर्प ने अपने वीडा स्कूटर को पहले गैर-इलेक्ट्रिक स्कूटर के रूप में स्थान दिया है। इसके साथ, वह इलेक्ट्रिक स्कूटर से जुड़े लोगों की सुरक्षा चिंताओं को दूर करना चाहती है। हीरो मोटोकॉर्प की इस स्थिति से उसे जनता का विश्वास हासिल करने में मदद मिलेगी। यह ई-स्कूटर बाजार को पूरी तरह से बदल सकता है।

हीरो मोटोकॉर्प के लिए चुनौती

ईवी क्षेत्र में मुंजाल के सबसे बड़े प्रतिद्वंद्वी उनके भतीजे नवीन मुंजाल हैं, जो हीरो इलेक्ट्रिक वाहन नामक एक पूरी तरह से अलग कंपनी चलाते हैं। यह बाजार हिस्सेदारी के मामले में इलेक्ट्रिक टू व्हीलर के मामले में भारतीय बाजार में अग्रणी कंपनी है। लगभग एक दर्जन अलग-अलग वैरिएंट के साथ, Hero Electric ने पिछले साल 50,000 से अधिक EVs बेचे।

हीरो इलेक्ट्रिक के मुख्य कार्यकारी सोहिंदर गिल ने कहा कि हीरो मोटोकॉर्प जैसे बड़े खिलाड़ियों का प्रवेश साबित करता है कि वास्तविक परिवर्तन हो रहा है और केवल बाजार का विस्तार होगा। 2001 में, नवीन मुंजाल ने परिवार के पहले इलेक्ट्रिक मॉडल, हीरो साइकिल के विकास के पीछे प्रेरक शक्ति होने का दावा किया। हीरो इलेक्ट्रिक के अलावा, हीरो मोटोकॉर्प को टीवीएस, ओला स्कूटर्स और ओकिनावा से भी कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा।

हीरो मोटोकॉर्प हीरो इलेक्ट्रिक ब्रांड का इस्तेमाल नहीं कर सकती है

हीरो मोटोकॉर्प अपने किसी भी इलेक्ट्रिक वाहन पर हीरो इलेक्ट्रिक ब्रांड का इस्तेमाल नहीं कर सकती है। असामान्य स्थिति 2010 की है, जब मुंजालों ने परिवार के स्वामित्व वाले हीरो समूह को चार भागों में विभाजित कर दिया था। पवन ने ज्वेल जेवी हीरो होंडा (2011 में हीरो मोटोकॉर्प का नाम बदला) का नाम दिया, जबकि नवीन के परिवार ने अपनी कंपनी और उत्पादों में हीरो इलेक्ट्रिक का उपयोग करने के अधिकार जीते।

Next Story