India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

UP: बारिश बनी किसानों के लिए खतरा, खेतों में हुई फसलें बर्बाद, महंगी होंगा अनाज

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर जिलों में भारी बारिश। खेतों में पानी भर गया है। कई जगह धान और गन्ने की फसल पूरी तरह नष्ट हो गई है। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में भी बारिश जारी रहेगी। मौसम का सबसे ज्यादा असर किसान पर पड़ा है। दरअसल, खेतों में पानी की कटौती से फसलें नष्ट हो रही हैं.

UP: बारिश बनी किसानों के लिए खतरा, खेतों में हुई फसलें बर्बाद, महंगी होंगा अनाज

IndiaNewsHindiBy : IndiaNewsHindi

  |  10 Oct 2022 11:12 AM GMT

बारिश से फसलों को नुकसान: उत्तर प्रदेश में किसान मौसम से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। कम बारिश से धान की बुआई बुरी तरह प्रभावित हुई है। कई इलाकों में सूखे जैसे हालात ने फसलों को ठीक से विकसित होने से रोक दिया है, इसलिए तीन से चार दिनों तक लगातार बारिश ने किसानों की बेचैनी बढ़ा दी है. बारिश ने खेतों में खड़ी धान और गन्ने की फसल को पूरी तरह से तबाह कर दिया है।

किसान मायूस

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर जिलों में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है. खेतों में पानी भर गया है। धान और गन्ने की फसल पूरी तरह नष्ट हो गई है। मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दिनों में भी बारिश जारी रहेगी। लगातार हो रही बारिश से किसान मायूस हैं तो लोग खाद्य फसलों की कीमत को लेकर भी चिंतित हैं।

क्या कह रहे हैं किसान?

अचानक हुई बारिश से परेशान किसान सुखदेव ने बताया कि धान के खेत बैठे हैं. जब मैंने 8-10 बीघा धान बोया तो सब कुछ नष्ट हो गया। वहीं, दिनेश भास्कर ने कहा कि बारिश से धान खेतों में गिर गया है. पानी भरा हुआ है। अगर अगले कुछ दिनों तक बारिश जारी रही तो छोटे किसानों को भारी संकट का सामना करना पड़ेगा।

क्या फसल महंगी होगी?

पहले सूखे और अब बारिश ने इस साल धान की फसल को भारी नुकसान पहुंचाया है। किसानों ने कहा कि इससे खाद्य फसलों पर असर पड़ने की संभावना है। चावल और गन्ने के दाम भी बढ़ेंगे। किसान फिलहाल सरकार से मदद का इंतजार कर रहे हैं।

कई किसानों के कर्ज बढ़े

कई किसानों ने कर्ज लेकर खेती शुरू कर दी है। उसने सोचा कि अच्छी फसल के बाद वह कर्ज चुकाएगा। कई खेत ऐसे हैं जो अचानक हुई बारिश से पूरी तरह जलमग्न हो गए हैं। किसानों पर कर्ज का बोझ भी बढ़ गया है।

Next Story