India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

बागी गुट में शामिल होंगे वफादार अशोक गहलोत, जी-23 ने किया संपर्क! राष्ट्रपति चुनाव में मुकाबले की तैयारी

क्या दशकों से गांधी परिवार के वफादार रहे अशोक गहलोत अब बागी जी-23 का हिस्सा होंगे?

ashok-gehlot-congress-president-election-g-23-leaders-sachin-pilot-anand-sharma-sonia-gandhi

बागी गुट में शामिल होंगे वफादार अशोक गहलोत, जी-23 ने किया संपर्क! राष्ट्रपति चुनाव में मुकाबले की तैयारी

IndiaNewsBy : IndiaNews

  |  30 Sep 2022 6:24 AM GMT

दशकों से गांधी परिवार के वफादार रहे अशोक गहलोत अब बागी जी-23 का हिस्सा होंगे? गुरुवार को जो हुआ उससे भी यही अंदाजा लगाया जा रहा हैI अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद साफ किया कि वह अब कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेंगेI इसके अलावा सीएम पद को लेकर भी संदेह जताया गया कि इस पर भी फैसला सोनिया गांधी को ही लेना हैI केसी वेणुगोपाल का यह भी कहना है कि अगले कुछ दिनों में सीएम पद को लेकर फैसला लिया जाएगाI इतना ही नहीं अध्यक्ष पद के चुनाव के बाद राजस्थान में एक बार फिर विधायक दल की बैठक बुलाने की तैयारी की जा रही हैI इसमें नए सीएम को लेकर फैसला लिया जा सकता हैI

इस बीच गुरुवार शाम जी-23 नेताओं की बैठक हुई। इसके बाद इस गुट के नेता आनंद शर्मा ने अशोक गहलोत से मुलाकात की. जी-23 नेताओं का कहना है कि अगर कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के लिए अंतिम उम्मीदवार सही नहीं हुआ तो उनकी तरफ से मुकाबला हो सकता हैI नया प्रत्याशी उतारा जा सकता है। फिलहाल खबर है कि दिग्विजय सिंह और शशि थरूर नामांकन दाखिल करेंगे। इसके अलावा गांधी परिवार से मंजूरी के आधार पर मल्लिकार्जुन खड़गे भी मैदान में उतरने जा रहे हैं। आप आज दोपहर ही नामांकन दाखिल कर सकते हैं।

आज चुनाव के लिए नामांकन दाखिल कर सकते हैं खड़गे

फिलहाल मध्य प्रदेश के करीब एक दर्जन विधायक दिग्विजय सिंह के समर्थन में दिल्ली पहुंच रहे हैं और उनके नामांकन में मौजूद हो सकते हैं. इसके अलावा मल्लिकार्जुन खड़गे भी आज नामांकन दाखिल करने जा रहे हैं। माना जा रहा है कि वह गांधी परिवार की पसंद के तौर पर उतर रहे हैं और उन्हें ही यह अहम पद मिल सकता हैI इन नेताओं के अलावा मीरा कुमार, केसी वेणुगोपा, पवन बंसल और अंबिका सोनी हैं, जिनके नाम राष्ट्रपति पद की दौड़ को लेकर चर्चा में हैं. फिलहाल कांग्रेस नेताओं का कहना है कि असली तस्वीर शुक्रवार शाम तक ही सामने आएगी यानी अंत तक उलटफेर की संभावना हैI

गहलोत को भी छोड़ना होगा सीएम का पद

गौरतलब है कि पहले अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत का नामांकन भरने की बात चल रही थीI लेकिन रविवार को विधायक दल की बैठक से अलग बैठक आयोजित करने को लेकर बवाल हो गयाI इसको लेकर चर्चा थी कि अशोक गहलोत सीएम पद के लालच में फंस गए हैं और सचिन पायलट को इस जिम्मेदारी पर नहीं देखना चाहते हैं। सोनिया गांधी भी उनसे इस कदर नाराज थीं कि काफी देर तक इंतजार करने के बाद उन्होंने मिलने का समय दिया। यहां अशोक गहलोत मिले भी तो उन्होंने सरेंडर कर दिया और मीडिया के सामने भी सोनिया गांधी से माफी मांगने की बात कहीI हालांकि अब भी आलाकमान और अशोक गहलोत के बीच मतभेद सुलझते नहीं दिख रहे हैंI अशोक गहलोत को नुकसान उठाना पड़ सकता है और वह जी-23 का हिस्सा बन सकते हैं।

Next Story