दवा के साथ भूलकर भी न करें इन चीजों का सेवन, सेहत को हो सकता है नुकसानI

दवा लिखते समय डॉक्टर हमेशा समय तक इसे खाने के तरीके के बारे में सलाह देते हैं। इसके बावजूद कई बार इंसान अनजाने में दवा के साथ-साथ कुछ ऐसी चीजों का भी सेवन कर लेता है, जो उसे फायदे की जगह नुकसान पहुंचाने लगती हैं। दवा के साथ इन चीजों के सेवन से शरीर पर विपरीत प्रभाव पड़ने लगता है। कोई भी दवा लेते समय उससे जुड़ी कुछ सावधानियां बरतना जरूरी है। कुछ खाद्य पदार्थ दवाओं के प्रभाव को कम कर देते हैं। ऐसे में आइए जानते हैं कुछ ऐसी खास बातों के बारे में जिन्हें दवा के साथ लेने की गलती भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

दवाई लेते समय इन चीजों का सेवन करना न भूलें-
ऊर्जा प्रदान करने वाले पेय-
एनर्जी ड्रिंक के साथ दवाएं नहीं लेनी चाहिए। यह दवा के विघटन के समय को बढ़ाता है। साथ ही इसका आपके शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

शराब-
दवा के साथ शराब का सेवन करने से आपकी दवा का असर कम हो सकता है और आपकी सेहत पर भी बुरा असर पड़ सकता है। एक अवधि में शराब और दवा का एक साथ सेवन करने से लीवर को काफी नुकसान हो सकता है और इससे लीवर से संबंधित अन्य विकार हो सकते हैं।

Cigarette-
धूम्रपान फेफड़ों और शरीर के अन्य हिस्सों को नुकसान पहुंचाता है। धूम्रपान आपकी प्रतिरोधक क्षमता को भी कमजोर कर सकता है, जिससे आप बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। धूम्रपान आपके द्वारा ली जा रही किसी भी दवा के अवशोषण, वितरण और प्रभावशीलता में हस्तक्षेप कर सकता है।

दुग्ध उत्पाद-
डेयरी उत्पाद आपके शरीर में कुछ एंटीबायोटिक दवाओं को ठीक से काम नहीं करने देते हैं। दूध में पाए जाने वाले कैल्शियम, मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स कैसिइन प्रोटीन के साथ मिलकर दवाओं के असर को कम करते हैं। अगर आप एंटीबायोटिक्स ले रहे हैं तो दूध न पिएं।

पोटेशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ-
रक्तचाप को कम करने के लिए ली जाने वाली दवाएं शरीर को जरूरत से ज्यादा पोटेशियम बनाए रखने में मदद कर सकती हैं। शरीर में किसी भी चीज की अधिकता हानिकारक होती है, पोटैशियम की अधिकता हृदय और रक्त प्रवाह में समस्या पैदा कर सकती है। कुछ अन्य पोटेशियम युक्त खाद्य पदार्थ जिनसे आपको बचना चाहिए वे हैं आलू, मशरूम, शकरकंद, आलू, आदि।

मुलेटी-
कुछ लोग पाचन के लिए हर्बल उपचार के रूप में मुलेठी का उपयोग करते हैं। इसमें पाया जाने वाला ग्लाइसीराइज़िन साइक्लोस्पोरिन सहित कुछ दवाओं के प्रभाव को कम करता है। इसके अलावा अगर आप ट्रांसप्लांट के लिए कोई दवा ले रहे हैं तो भी मुलेठी का सेवन न करें।

पत्तीदार शाक भाजी-
हरी पत्तेदार सब्जियों के रूप में भी मान्यता प्राप्त, कुछ दवाओं के अवशोषण और प्रभावशीलता को रोक सकती है। केल, ब्रोकली आदि सब्जियां विटामिन के का एक बड़ा स्रोत हैं। विटामिन के का उच्च सेवन वार्फरिन जैसी दवाओं के प्रभाव में हस्तक्षेप कर सकता है। वारफारिन का उपयोग अक्सर रक्तस्राव, रक्त के थक्कों या अन्य रक्त विकारों के जोखिम को कम करने के लिए किया जाता है।