हर समय लगता है थकान-कमजोरी, रोजाना करें ये 5 योगासन, कुछ ही दिनों में महसूस होगा फर्क

थकान दूर करने के लिए योग आसन: कई बार व्यक्ति की खराब जीवनशैली, गलत खान-पान और नींद की कमी उसे क्रोनिक थकान सिंड्रोम का शिकार बना देती है। क्रोनिक थकान सिंड्रोम का मतलब है कि व्यक्ति हर समय थका हुआ महसूस करता है। अगर आप भी आराम करने के बाद भी हर समय थकान महसूस करते हैं और समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें तो इस समस्या से निजात पाने के लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं। योग आपकी प्रतिरक्षा और सहनशक्ति दोनों में सुधार कर सकता है। आइए जानते हैं कैसे।

पवनमुक्तासन (पवनमुक्तासन)-
यह एक बहुत ही सक्रिय योग आसन है जो आपके पैरों को फैला हुआ महसूस कराता है। इसके अलावा इस आसन को करने से गैस और एसिडिटी जैसी समस्याओं को भी दूर करने में मदद मिलती है। इस आसन को करने के लिए अपने पैरों को मिलाकर खड़े हो जाएं। अब सांस भरते हुए अपने सीधे पैर को मोड़ें और ऊपर उठाएं। पैर को मोड़ते समय आपका घुटना ऊपर की तरफ होना चाहिए। जितना हो सके अपने घुटने को ऊपर उठाएं। फिर सांस भरते हुए अपने घुटनों को हाथों से पकड़ें। यह आपके लचीलेपन पर निर्भर करता है कि आप अपने घुटनों तक छाती तक पहुंच पा रहे हैं या नहीं। इस पोजीशन में जितनी देर हो सके रुकें और गहरी सांसें लें। अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करने से आपका मूड सही रहता है।
अब धीरे-धीरे अपने पैर को नीचे लाएं और इसे पांच बार दोहराएं। इसी तरह दूसरे पैर से भी ऐसा ही करें।

इसे ध्यान में रखो-
अगर आप हाई ब्लड प्रेशर, एसिडिटी, हृदय रोग, हर्निया, स्लिप डिस्क या गर्दन या पीठ की समस्या से पीड़ित हैं तो इस आसन को न करें। इसके अलावा गर्भवती और रजोनिवृत्त महिलाओं को भी इससे बचना चाहिए।

बालासन-
बालासन न केवल तनाव को कम करता है, बल्कि आपके शरीर में खोई हुई ऊर्जा को वापस लाने और शांति प्रदान करने में भी मदद करता है। इसे करने के लिए सबसे पहले योग मैट पर घुटनों के बल बैठ जाएं। इस दौरान आपके दोनों टखने और टखने एक दूसरे को छूते हैं। अब गहरी सांस लें और हाथों को ऊपर उठाकर आगे की ओर झुकें। इतना झुकें कि पेट दोनों जाँघों के बीच आ जाए, अब सांस छोड़ें। जितना हो सके इस अवस्था में रहने की कोशिश करें। याद रखें कि दोनों हाथ घुटनों के सीध में रहने चाहिए। अब वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

धनुरासन-
धनुरासन में शरीर धनुष की तरह तना हुआ दिखाई देता है। यह आसन थायराइड के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। यह आपके मोटापे को कम करने में भी मदद करता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले पेट के बल चटाई पर लेट जाएं। अब अपने घुटनों को मोड़कर कमर के पास ले आएं। अब दोनों एड़ियों को अपने हाथ से पकड़ने की कोशिश करें। जब आप अपनी टखनों को पकड़ें, तो अपने सिर, छाती और जाँघों को भी ऊपर की ओर उठाएँ। इस पोजीशन में कोशिश करें कि आपके शरीर का वजन पेट के निचले हिस्से पर हो। अपनी क्षमता के अनुसार इस स्थिति में रहें और फिर वापस आ जाएं।

ताड़ासन-
ताड़ासन को वार्म-अप आसन के रूप में भी देखा जाता है, यह आपके पूरे शरीर को फैलाता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले योग मैट पर सीधे खड़े हो जाएं और पैरों के बीच कुछ दूरी रखें। एक गहरी सांस लें और अपने दोनों हाथों को ऊपर उठाएं और उन्हें फैलाएं, अब अपनी एड़ियों को ऊपर उठाएं और अपने पैर की उंगलियों पर खड़े हो जाएं। इस अवस्था में आप अपने शरीर के हर हिस्से में खिंचाव महसूस करेंगे। कुछ देर इसी स्थिति में रहें और फिर सामान्य स्थिति में आ जाएं और इस आसन को 10-15 बार दोहराएं।

दाह संस्कार-
यह आसन बहुत ही सरल है। इस आसन को करने से आपकी शारीरिक और मानसिक थकान दूर होने लगेगी। शवासन करने के लिए सबसे पहले जमीन पर लेट जाएं और अपने पैरों को पूरी तरह से ढीला छोड़ दें। अपने दोनों हाथों को शरीर से कुछ दूरी पर रखें। अब अपने पैर की उंगलियों से शुरू करते हुए धीरे-धीरे अपने पूरे शरीर के हिस्सों पर ध्यान देना शुरू करें। अब अपने मन को शांत करें और महसूस करें कि शरीर में ऊर्जा का निर्माण हो रहा है।