India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

Facts in Hindi: आखिर असमान का रंग नीला क्यों नज़र आता है, जानिए इसका कारण

Facts in Hindi: ऐसा नहीं है कि आकाश हमेशा नीला दिखता है। आकाश कभी लाल तो कभी गुलाबी रंग का भी दिखाई देता है।

Facts in Hindi: आखिर असमान का रंग नीला क्यों नज़र आता है, जानिए इसका कारण

IndiaNewsHindiBy : IndiaNewsHindi

  |  21 Oct 2022 8:49 AM GMT

Facts about Sky: आकाश नीला क्यों होता है? कोई और रंग क्यों नहीं? जब सूर्य की किरणें प्रिज्म से होकर गुजरती हैं। इसलिए सूर्य की किरणें सात किरणों में विभाजित हैं। बैंगनी, नीला, आकाश, हरा, पीला, नारंगी और लाल, वास्तव में यह विज्ञान सफेद किरणों के लिए है। दूसरे शब्दों में, सफेद रंग में ये सन्निहित किरणें होती हैं। और सूर्य की किरणें सफेद होती हैं। सूर्य की किरणें भी रंगों से मिलकर बनती हैं। जब सूर्य की किरणें हमारे वायुमंडल में पहुँचती हैं, तो सूर्य की किरणें वातावरण में मौजूद गैसों, वाष्पों आदि से टकराती हैं और वायुमंडल में विफल हो जाती हैं।

कारण का पता लगाएं

सूर्य की किरणों में 7 रंग होते हैं। यानी सूर्य की ये किरणें ही वाष्प, गैस आदि से टकराकर वातावरण में फैलती हैं। ऐसे रंग जिनकी तरंग दैर्ध्य अधिक होती है। यह कम फैलता है। जैसे लाल, पीला और नारंगी और जिनकी तरंगदैर्घ्य कम होती है। जैसे बैंगनी, नीला, आकाश, हरा और ये किरणें सबसे अधिक फैलती हैं। आंख की संवेदनशीलता के कारण ही आकाश नीला दिखाई देता है। ऐसा नहीं है कि आकाश हमेशा नीला दिखाई देता है। आसमान कभी लाल तो कभी गुलाबी दिखता है। यह केवल सूर्योदय और सूर्यास्त के समय ही संभव है, जब आकाश लाल और नारंगी दिखाई देता है।

सूर्य के प्रकाश के कारण आकाश नीला दिखाई देता है। जो कई अलग-अलग रंगों का मिश्रण है। दिन के समय आकाश में जब सूर्य मनुष्यों के सिर के ऊपर होता है। तो केवल आकाश दिखाई देता है। लाल आसमान बहुत कम देखने को मिलता है। आकाश का रंग हल्के नीले रंग की अपेक्षा अधिक दिखाई देता है।

Next Story