India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

Business Idea: गुलखैरा की खेती से आप भी कर सकते है मोटी कमाई, जानिए कैसे शुरू करे

Business Idea- आज हम आपको एक ऐसे ही कमाल के बिजनेस के बारे में बताने जा रहे हैं। इस बिजनेस से आप कम समय में अच्छी कमाई कर सकते हैं।

Business Idea: गुलखैरा की खेती से आप भी कर सकते है मोटी कमाई, जानिए कैसे शुरू करे

IndiaNewsHindiBy : IndiaNewsHindi

  |  25 Nov 2022 8:43 AM GMT

Business Idea: आजकल लोगों के बीच खेती का चलन हो गया है। कई लोग अपनी सुविधा और जमीन के अनुसार बागवानी करते हैं तो कई अन्य फसलें उगाई जाती हैं। अगर आप अपना खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आज हम आपको एक ऐसे बिजनेस के बारे में बताने जा रहे हैं। इस बिजनेस से आप कम समय में अच्छी कमाई कर सकते हैं।

लोगों ने खेती से भी अच्छा मुनाफा कमाया है। कई युवा ऐसे हैं जो जमीन की ओर आकर्षित हैं और पढ़ाई पूरी करने के बाद खेती के विभिन्न तरीके अपना रहे हैं। इसका उन्हें फायदा भी हुआ है।

इस पौधे की खेती करनी चाहिए

यहां गुलखैरा के पेड़ों की खेती करनी चाहिए। गुलखैरा के पौधे में कई औषधीय गुण होते हैं। औषधीय पौधों को अधिक जगह की आवश्यकता नहीं होती है और कम जगह में उगाए जाने पर अच्छा रिटर्न दे सकते हैं।

जड़ से तने तक काम आता है

गुलखेड़ा के पौधे की सबसे खास बात यह है कि इसकी जड़, तना, पत्तियां और बीज बाजार में आसानी से बिक जाते हैं। इस पौधे की मांग बाजार में बढ़ रही है। देश में कई किसान गुलखैरा के पेड़ों की खेती कर भारी आय अर्जित कर रहे हैं। यह बिजनेस आपके लिए एक बेहतरीन इनकम का विकल्प साबित हो सकता है।

कमाई कैसे होगी

गुलखैरा 10 हजार रुपए प्रति क्विंटल तक आसानी से बिक जाता है। ऐसे में अगर आपके पास एक बीघे खेत में 5 क्विंटल गुलखैरा है। ऐसे में आप 50,000 रुपये से 60,000 रुपये तक आसानी से कमा सकते हैं। वहीँ अगर आप इसे बड़े पैमाने पर उगाते हैं। ऐसे में आप इस बिजनेस से आसानी से लाखों रुपए कमा सकते हैं। इस फसल को उगाने के बाद आपको बार-बार बीज खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपको पुरानी फसलों से पुनर्बीज के लिए बीज मिलेंगे।

खेती के लिए यह सबसे अच्छा महीना है

गुलखैरा नवंबर में उगाई जाती है। इसके बाद अप्रैल-मई में फसल तैयार हो जाती है। उसके बाद पेड़ों के पत्ते और तने सूखकर खेतों में गिरने लगते हैं। दवा बनाने के लिए गुलखेड़ा के फूल, पत्ते और तने का इस्तेमाल किया जाता है।

Next Story