India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

महाराष्ट्र: कैबिनेट विस्तार में देरी के बाद अब बीजेपी-शिंदे के बीच विभागों को लेकर है खींचतान, जानें कहां फंसा है पेंच?

महाराष्ट्र पोर्टफोलियो आवंटन 2022: महाराष्ट्र में 41 दिन की देरी के बाद मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मंगलवार को मंत्रिमंडल का

महाराष्ट्र: कैबिनेट विस्तार में देरी के बाद अब बीजेपी-शिंदे के बीच विभागों को लेकर है खींचतान, जानें कहां फंसा है पेंच?

Indianews@agencyBy : Indianews@agency

  |  2022-08-11T21:33:11+05:30

महाराष्ट्र पोर्टफोलियो आवंटन 2022: महाराष्ट्र में 41 दिन की देरी के बाद मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मंगलवार को मंत्रिमंडल का विस्तार किया. अब दो दिन बीत जाने के बाद भी मंत्रियों के विभागों का बंटवारा नहीं हुआ है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बीजेपी ऐसे विभाग चाहती है जो जनता से सीधे जुड़े. वहीं मुख्यमंत्री शिंदे शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग जैसे मंत्रालयों को अपने खेमे में रखना चाहते हैंI

सूत्रों ने बताया कि मामला राजस्व विभाग को लेकर भी फंसा हुआ है। जिससे विभागों के आवंटन में देरी हो रही है। इससे पहले बुधवार को सूत्रों ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को गृह मंत्रालय का प्रभार मिल सकता है। फडणवीस ने 2014-19 के दौरान भाजपा-शिवसेना सरकार में मुख्यमंत्री के रूप में गृह मंत्रालय का प्रभार भी संभाला।

कौन सा विभाग सीएम के पास है?
अभी यह स्पष्ट नहीं है कि मुख्यमंत्री शिंदे अपने पास कौन से विभाग रखेंगे। हालांकि माना जा रहा है कि एकनाथ शिंदे शहरी विकास विभाग और महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम (एमएसआरडीसी) को संभाल सकते हैं।

पूर्ववर्ती महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार में, शिंदे ने लोक निर्माण विकास (सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम), शहरी विकास और एमएसआरडीसी विभागों को संभाला।

सूत्रों के अनुसार सामाजिक न्याय विभाग डॉ. सुरेश खाड़े को दिया जाएगा क्योंकि यह मंत्रालय आमतौर पर पिछड़े समुदाय के नेताओं को दिया जाता है। वह पश्चिमी महाराष्ट्र के सांगली जिले से अकेले भाजपा विधायक हैं। उन्हें पार्टी का दलित चेहरा माना जाता है। भाजपा नंदुरबार का प्रतिनिधित्व कर रहे डॉ. विजयकुमार गावित को आदिवासी विकास मंत्री बना सकती हैI

बीजेपी की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल को अहम मंत्रालय मिल सकता है. उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में फडणवीस के कार्यकाल के दौरान राजस्व और सहकारिता मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाली है। पार्टी के एक अन्य नेता सुधीर मुनगट्टीवार को भी अहम मंत्रालय मिल सकता है। इससे पहले वे वित्त एवं वन विभाग का प्रभार संभाल चुके हैं।

शिवसेना के शिंदे गुट के नौ और भाजपा के नौ सहित कुल 18 विधायकों ने मंगलवार को मंत्री पद की शपथ ली।

Next Story