कांग्रेस के अध्यक्ष कौन है? अब कमलनाथ से लेकर मीरा कुमार समेत इन नामों की भी चर्चा है

कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा? यह एक ऐसा सवाल है जिस पर काफी समय से कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। दरअसल, पार्टी के शीर्ष पद पर राहुल गांधी की अनिच्छा से यह सवाल और भी पेचीदा हो गया है. माना जा रहा था कि राहुल दोबारा कांग्रेस की बागडोर संभालेंगे, लेकिन जानकारों का कहना है कि वह इसे लेकर ज्यादा उत्साहित नहीं दिख रहे हैंI

2019 के लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। तब से सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर यह जिम्मेदारी संभाल रही हैं। राहुल के प्रति ईमानदार और पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं का मानना ​​है कि उन्हें फिर से अध्यक्ष का पद संभालना चाहिए। इसे लेकर राहुल पर किसी तरह का दबाव भी बनाया जा रहा है. ये लोग गांधी परिवार के बाहर किसी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने के विचार से सहमत नहीं हैं।

‘गांधी परिवार से बाहर का व्यक्ति बना पार्टी अध्यक्ष’
हालांकि, कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता इस बात पर जोर देते रहे हैं कि गांधी परिवार के बाहर के किसी व्यक्ति के पार्टी अध्यक्ष बनने का समय आ गया है। ध्यान रहे कि पिछले तीन साल में कांग्रेस कोई बड़ा चुनाव नहीं जीत पाई है. सवाल यह है कि अगर राहुल दोबारा कांग्रेस अध्यक्ष बनने से इनकार कर दें और सोनिया भी अब पीछे हट जाएं तो क्या होगा? आखिर कौन हैं वो चेहरे जिन्हें कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जा सकता है।

राष्ट्रपति पद के लिए दलित चेहरा सामने लाने का सुझाव
इस सूची में आगे मध्य प्रदेश पार्टी अध्यक्ष कमलनाथ का नाम भी शामिल है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बारे में नाथ से भी संपर्क किया गया था लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया. वह एमपी में ही अपनी सक्रियता बढ़ाना चाहते हैं। कांग्रेस के कुछ नेताओं का सुझाव है कि पार्टी अध्यक्ष पद के लिए एक दलित चेहरे को आगे लाया जाना चाहिए। अगर ऐसा होता है तो प्रियंका गांधी का नाम छूट सकता है।

क्या हाईकमान के लिए नाम फाइनल करना मुश्किल है?
पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे, मल्लिकार्जुन खड़गे, मुकुल वासनिक और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार भी इस सूची में हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी इस पद के बड़े दावेदार माने जा रहे हैं। इनके अलावा कुछ लोग जयराम रमेश और अंबिका सोना में भी इसकी क्षमता देखते हैं। हालांकि अभी पक्के तौर पर कुछ भी कहना संभव नहीं है। जानकारों का मानना ​​है कि पार्टी आलाकमान के लिए यह चुनना भी बहुत मुश्किल हो गया है कि किसे कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जाएI