बीजेपी ने बताया बिहार से महागठबंधन, लोकसभा चुनाव में नड्डा-शाह ने दिया 35 सीटों का टारगेट

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले जनता दल (यूनाइटेड) के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से अलग होने के कुछ दिनों बाद, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 2024 के लोकसभा चुनावों में बिहार में 35 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। बिहार बीजेपी कोर कमेटी की बैठक मंगलवार को दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में हुई. इस बैठक में बिहार बीजेपी के तमाम बड़े चेहरों ने हिस्सा लिया.

इस बैठक में प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, सुशील कुमार मोदी, बीएल संतोष, रविशंकर प्रसाद, शाहनवाज हुसैन, मंगल पांडे, जनक राम, नंद किशोर यादव समेत कई नेता मौजूद थे.

‘2024 के चुनाव में 35 सीटों का लक्ष्य’
बैठक के बाद जायसवाल ने कहा, ”बिहार में महागठबंधन लोगों को ठगने का गठबंधन है. भाजपा इसके खिलाफ सड़क से विधानसभा तक लड़ेगी. भाजपा ने 2024 के लोकसभा चुनाव में 35 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है.”

उन्होंने आगे कहा, “बिहार कोर कमेटी की यह बैठक राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में हुई. सभी मुद्दों पर बहुत गहन और विस्तृत चर्चा हुई है.”

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने महागठबंधन को बिहार की जनता के साथ विश्वासघात बताया. उन्होंने कहा कि यह पिछले दरवाजे से गठबंधन है, जो बिहार में लालू राज को फिर से स्थापित करने की कोशिश कर रहा है. जायसवाल ने आगे कहा कि बीजेपी बिहार में 35 से ज्यादा सीटें जीतकर 2024 के आम चुनाव में रिकॉर्ड कायम करेगी.

आपको बता दें कि बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं। राज्य में 17 सांसद बीजेपी के और 16 नीतीश कुमार की पार्टी के हैं. वहीं 2019 के चुनाव में रामविलास पासवान की पार्टी लोजपा ने 6 सीटों पर जीत हासिल की थी. तीनों पार्टियों ने मिलकर चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में महागठबंधन का बुरा हाल था. कांग्रेस पार्टी को सिर्फ एक सीट पर सफलता मिली है.

इससे पहले मंगलवार को राज्य में महागठबंधन या महागठबंधन का हिस्सा रहे विभिन्न दलों के कुल 31 मंत्रियों को बिहार कैबिनेट में शामिल किया गया. बिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने राजभवन में नए मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. राजद को 16 मंत्री और जनता दल (यूनाइटेड) को 11 मंत्री पद मिले हैं। जीतन राम मांझी के हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के एकमात्र निर्दलीय विधायक सुमित कुमार सिंह ने भी कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली।