India News Agency
Begin typing your search above and press return to search.

रेल कर्मचारियों के भत्तों में कटौती की तैयारी! बोर्ड ने कहा- खर्च बढ़ा

भारतीय रेलवे के कर्मचारियों को बड़ा झटका देने की तैयारी की जा रही हैI दरअसल, रेलवे बोर्ड ने सात जोनों

रेल कर्मचारियों के भत्तों में कटौती की तैयारी! बोर्ड ने कहा- खर्च बढ़ा

Indianews@agencyBy : Indianews@agency

  |  2022-09-03T04:17:28+05:30

भारतीय रेलवे के कर्मचारियों को बड़ा झटका देने की तैयारी की जा रही हैI दरअसल, रेलवे बोर्ड ने सात जोनों को ईंधन और रखरखाव के अलावा ओवरटाइम, रात की ड्यूटी और यात्रा के लिए भत्तों की समीक्षा करने को कहा हैI

क्या है कारण: समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके त्रिपाठी ने तिमाही समीक्षा बैठक में पाया कि परिचालन से जुड़े खर्चे काफी ज्यादा हैंI चालू वित्त वर्ष में मई तक, सभी सात क्षेत्रों में, यह पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में रेलवे की 26 प्रतिशत की औसत वृद्धि से काफी ऊपर चला गया है। रेलवे के मुताबिक, परिचालन खर्च को लेकर 2022-23 के लिए कुल बजट अनुमान 2.32 लाख करोड़ रुपये है। चूंकि खातों का ऑडिट होना बाकी है, प्रासंगिक आंकड़े अनंतिम हैं।

सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान रेलवे बोर्ड ने जोनों को अपना खर्च कम करने के लिए तत्काल कदम उठाने का निर्देश दिया और महाप्रबंधकों को इस संबंध में कार्य योजना तैयार करने को कहा. पूर्वी रेलवे (ईआर), दक्षिणी रेलवे (एसआर), उत्तर पूर्व रेलवे (एनईआर) और उत्तर रेलवे (एनआर) जैसे क्षेत्रों को किलोमीटर भत्ते को विनियमित करने की आवश्यकता है।

यह भत्ता ट्रेन चलाने वाले कर्मचारियों को दिया जाता है। दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे (एसईसीआर), पूर्व-मध्य रेलवे (ईसीआर) और पूर्वी तट रेलवे (ईसीओआर) को रात्रि ड्यूटी भत्ते पर अपने खर्च को कम करने के लिए कहा गया है।

Next Story